Vachan (Singular-Plural) (वचन) Related Important Study Material In Hindi Grammar

वचन

परिभाषा = शब्द के जिस रूप से उसके एक या एक से अधिक होने का बोध हो तो उसे वचन कहा जाता हैं।

हिन्दी मे वचन दो प्रकार के होते हैं।

(1) एक वचन

(2) बहुवचन

(1) एकवचन

एकवचन पद के जिस रूप से किसी एक संख्या का होने बोध होता हो, तो उसे एकवचन कहा जाता हैं।

जैसे – मेरी, उसका, पेड़, वर, बस आदि

(2) बहुवचन

बहुवचन विकारी पद के जिस रूप से किसी की एक से अधिक संख्या का होने का बोध होता तो, उसे बहुवचन कहा जाता हैं।

जैसे – महिलाए, वे, कमरे, नदियां, पुस्तके आदि

महत्वपूर्ण तथ्य

किसी शब्द के अन्तिम व्यंजन पर जो मात्रा हो वही उसका कारान्तर होता है

जैसे = रमा – आकारान्त

अग्नि = इकारान्त

पितृ = ऋकान्तर

हिन्दी मे कारक-ने,को,से,में पर, आदि)परसरग रहीत होने पर आकारान्त(रमा,चाचा,माता,पिता) आदि शब्दों को छोड़ कर शेष शब्दों का एकवचन व बहुवचन समान माना जाता है

जैसे -अतिथि, हाथी, बालिका,साधु, जन्तु, बालक, फूल, फल,शेर, टाइगर,पति, मोती, मित्र,शत्रु, भालू, आलू, चाकू आदि

हिन्दी में निम्न शब्द सदैव एक वचन में काम मे लिया जाता हैं-

स्टील, पानी, दूध, लोहा,सोना, चाँदी, आग, तेल, घी, सत्य, झूठ, जनता, आकाश,मिठास, प्रेम, क्रोध, दुश्मनी,शत्रु,क्षमा, मोह, सामान, ताश, सहायता, वर्षा, हवा,खून,तेज़ाब आदि

हिन्दी में निम्न शब्द सदैव बहुवचन में काम मे लिए जाते हैं-

होश,आँसू, आदरणीय, व्यक्ति महिला,हेतु प्रयुक्त शब्द आप,दर्शन, तुम, समूह, भाग्य, धन,दाम, हस्ताक्षर, प्राण,समाचार, बाल, लोग, हाल-चाल, हाव-भाव आदि

Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *