Payment Systems In India

आरटीजीएस: रियल टाइम ग्रॉस सेटलमेंट

यह एक केंद्रीयकृत भुगतान प्रणाली है, जिसके माध्यम से अंतरबैंक भुगतान निर्देश प्रोसेस होते हैं और ग्रोस आधार पर वास्तविक समय में उनका निपटान होता है। इसका मतलब है कि अंतरण होते ही उनका निपटान कर दिया जाता हैं।

  • इसमें न्यूनतम राशि 2 लाख रुपये है और अधिकतम राशि की कोई सीमा नहीं है।
  • बाहरी लेनदेन (एक आरटीजीएस भेजना) के लिए बैंक की ओर से एक ‘सेवा शुल्क’ लिया जाता है और प्राप्ति लेनदेन (एक आरटीजीएस प्राप्त करना) मुफ्त होता है।
  • आरटीजीएस अंतर-बैंक खाते के लेन-देन के साथ ही ग्राहक के उच्च मूल्य के लेन-देन को व्यवस्थित करने के लिए बैंकों द्वारा प्रयोग किया जाता है।
  • यह संचालन करने के लिए इन्फिनेट (भारतीय वित्तीय नेटवर्क) मंच का उपयोग करता है।

एनईएफटी: नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर
यह एक देशव्यापी धन हस्तांतरण प्रणाली है जो किसी भी अन्य बैंक की शाखा के लिए किसी भी बैंक की शाखा से फंड ट्रांसफर की सुविधा देती है।

एनईएफटी और आरटीजीएस के बीच अंतर यह है कि एनईएफटी भुगतान बैचों में होता है और नेट निपटान है जबकि आरटीजीएस वास्तविक समय में सकल निपटान है।

  • नेट निपटान का मतलब है, कि एक विशेष बैंक शाखाओं से संबंधित लेनदेन को होल्ड पर रखा जाता है और फिर राशि एक बैच में एक साथ प्रोसेस होती है, चाहे वो इनकमिंग हो या आउट गोइंग।
  • न्यूनतम / अधिकतम लेनदेन मूल्य के लिए कोई सीमा नहीं है।
  • एनईएफटी विदेशी प्रेषण के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकता।

AEPS: आधार सक्षम भुगतान प्रणाली
यह एक भुगतान प्रणाली है जो आधार कार्ड नंबर और एक व्यक्ति की ऑनलाइन यूआईडीएआई प्रमाणीकरण, जो एक ग्राहक के बैंक खाते में जुड़े हुए हैं का उपयोग करती है। एक ग्राहक को इसके लिये अपने मौजूदा बैंक खाते में उसकी / उसके आधार नंबर रजिस्टर करना होता है।

  • AEPS के माध्यम से, ग्राहक पैसे निकालना, नकदी जमा करना, बैलेंस जांच करना, और धन हस्तांतरण  कर सकते हैं।
  • प्रति दिन प्रति खाता लेनदेन की अधिकतम राशि 50,000 रुपये है।
  • ये लेनदेन सामान्य रूप से व्यापार संवाददाताओं (बीसी) सेवा केन्द्रों द्वारा संचालित किये जाते हैं।

एमटीएसएस: मनी ट्रांसफर सेवा योजना
यह भारत में लाभार्थियों को विदेश से व्यक्तिगत धन स्थानांतरित करने की एक प्रणाली है।

  • इसके माध्यम से भारत में यह केवल इनकमिंग प्रेषण की अनुमति है। कोई आउटगोइंग प्रेषण की अनुमति नहीं है।
  • इसके माध्यम से अधिकतम 50,000 रुपये भेजे जा सकते है। एक कैलेंडर वर्ष में अधिकतम 30 लेनदेन अनुमति है।

नेपाल विप्रेषण योजना
यह भारत से नेपाल के लिए एक प्रेषण सुविधा है।
अधिकतम प्रेषण राशि सीमा 50,000  रुपये है और लाभार्थियों को राशि नेपाली रुपए में प्राप्त होती है।

Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *