GK & Current Affairs 17th June 2017 Capsule

ca17news

1. चीन ने अपना पहला एक्सरे अंतरिक्ष दूरबीन लॉन्च किया

चीन ने अपनी पहली एक्सरे दूरबीन का शुभारंभ किया, अंतरिक्ष कार्यक्रम विकसित करने के लिए देश की दौड़ में  यह एक महत्वपूर्ण कदम लिया गया, जो कि अमेरिका या रूस के प्रतिद्वंद्वी हो सकता है।

  • हार्ड एक्स-रे मॉड्यूलेशन टेलीस्कोप (एचएक्सएमटी) को इनर मंगोलिया में स्थित देश की पहली सैटेलाइट लॉन्च साइट चीन के ज्यूक्वांस सैटेलाइट लॉन्च सेंटर, से  एक घरेलू-विकसित लांग मार्च -4 बी रॉकेट के माध्यम से प्रक्षेपित किया गया।
  • एक बार कक्षा में स्थापित होने के पश्चात, दूरबीन का उपयोग उच्च-ऊर्जा स्रोतों ब्लैक होल, पल्सर और गामा-रे विस्फोट जैसे को देखने एवं उनके ऊर्जा स्रोतों के बारे में अधिक समझने के लिए किया जाएगा।

2. महात्मा गांधी का साबरमती आश्रम आज 100 साल मना रहा है।  

महात्मा गांधी के समय देश की आजादी के संघर्ष के केंद्रबिंदु के रूप में काम करने वाला  साबरमती आश्रम, आज अपने शताब्दी का जश्न बापू के पोते और पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल गोपालकृष्ण गांधी की उपस्थिति में मनाएगा।

  • गोपालकृष्ण ने “मेरा जीवन मेरा संदेश और चरखा” शीर्षक वाली दो चित्रशालाओं का उद्घाटन किये। उन्होंने “लेटर्स टू गांधी और पायनियर्स ऑफ सत्याग्रह” नामक दो पुस्तकें रिलीज़ की।
  • “मेरा जीवन मेरी संदेश” चित्रशाला महात्मा के पूरे जीवन का चित्रण करेंगे जबकि चरखा गैलरी देश भर से चरखा (कताई पहियों) के विभिन्न मॉडलों को प्रदर्शित करेगा “।

3. मानव संसाधन विकास मंत्रालय योग को लोकप्रिय बनाने के लिए कई कार्यक्रमों का आयोजन करेगा  

मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने 3rd अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस (21 जून, 2017) के दिन देश के सभी हिस्सों में विशेषकर छात्रों और संकायों के बीच इसे बढ़ावा देने के लिए कई विभिन्न पहल की हैं।

  • योग ओलंपियाड 2017 द्वितीय ओलंपियाड है, जो 18 से 20 जून, 2017 तक राष्ट्रीय शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद (एनसीईआरटी) द्वारा एनसीईआरटी, नई दिल्ली में आयोजित किया जाएगा,जिसमें ऊपरी-प्राथमिक से माध्यमिक चरणों में विद्यालय के बच्चों को शामिल किया जाएगा।
  • योग ओलंपियाड का थीम  ‘स्वास्थ्य और सद्भाव के लिए योग’ है।

4. आईबीबीआई ने कॉर्पोरेट के लिए फास्ट ट्रैक दिवाला संकल्प प्रक्रिया को सूचित किया

कॉर्पोरेट मामलों के मंत्रालय ने फास्ट ट्रैक प्रक्रिया से संबंधित दिवालिया और दिवालियापन कोड, 2016 के संबंधित धारा 55 से 58 को अधिसूचित किया है और यह भी सूचित किया है कि फास्ट ट्रैक प्रक्रिया कॉर्पोरेट देनदारों की निम्नलिखित श्रेणियों पर लागू होगी:

  • कंपनी अधिनियम, 2013 की अनुभाग 2 की धारा (85) के तहत परिभाषित एक छोटी कंपनी; या
  • वाणिज्य और उद्योग मंत्रालय के 23 मई, 2017 की अधिसूचना में परिभाषित के रूप में एक स्टार्टअप (भागीदारी फर्म के अलावा); या
  • एक असूचित कंपनी, जैसा कि तत्काल वित्तीय वर्ष के वित्तीय विवरण में रिपोर्ट किया गया है, जिसकी  कुल परिसंपत्ति 1 करोड़ रुपये से अधिक नहीं है, शामिल है।
  • इन मामलों में प्रक्रिया को,अन्य मामलों में 180 दिनों के भीतर की अपेक्षा 90 दिनों की अवधि के भीतर पूरा किया जाएगा ।

5. डायरिया के कारण बाल मृत्यु को कम करने के लिए केंद्र ने आईडीसीएफ लॉन्च किया

स्वास्थ्य मंत्रालय ने तीव्रताग्रस्त दस्त नियंत्रण पखवाड़ा (आईडीसीएफ) शुरू किया है जिसके तहत राज्य स्तर पर ओआरएस और जिंक थेरेपी की स्वच्छता और संवर्धन के लिए सामुदायिक जागरूकता अभियान आयोजित किया जाएगा।

  • आईडीसीएफ का उद्देश्य सबसे प्रभावी और कम लागत के मौखिक रीहाइड्रेशन नमक (ओआरएस) विलयन और जस्ता गोलियों के संयोजन द्वारा डायरिया उपचार के बारे में जन जागरूकता पैदा करना है ।
  • पखवाड़े के दौरान, आशा कार्यकर्ता अपने गांव में पांच वर्ष से कम बच्चों वाले घरों में ओआरएस पैकेट का वितरण करेंगी।

6. प्रधान मंत्री ने कोच्चि मेट्रो को राष्ट्र को समर्पित किया

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कोच्चि मेट्रो के पहले चरण को देश को समर्पित किया। केरल के राज्यपाल पी सदाशिवम, मुख्यमंत्री पिनाराययी विजयन और केंद्रीय शहरी विकास मंत्री एम वेंकैया नायडू और मेट्रो मैन ई ई श्रीधरन ने ट्रेन में प्रधान मंत्री के साथ थे।

  • पलारिवात्तोम  स्टेशन पर रिबन काटने के बाद पलारिवात्तोम  से पथादिप्पलम की सवारीली।

 

7. येशे दोर्जी थोंगशी को भूपेन हजारिका पुरस्कार प्रदान किया गया

पांचवां भूपेन हजारिका राष्ट्रीय पुरस्कार, 2017 से अरुणाचल प्रदेश के एक प्रसिद्ध लेखक येशे दोर्जी थोंगशी को सम्मानित किया गया है।

  • महाराष्ट्र आधारित संगठन सरहद द्वारा स्थापित यह प्रतिष्ठित पुरस्कार 2012 से प्रत्येक वर्ष एक व्यक्ति को  दिया जा रहा है, जिन्होंने राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उत्कृष्ट साहित्यिक काम किया है।
  • उनके सबसे महत्वपूर्ण उपन्यास मौना ओन्थ मुखर हृदय (मौन होठ, बुरे लोग) ने 2005 में साहित्य अकादमी पुरस्कार जीता था ।

 

8. भारतीय पहलवानों ने जूनियर एशियाई चैंपियनशिप में 5 पदक जीते

भारतीय पहलवानों ने जूनियर एशियाई चैंपियनशिप में पांच पदक जीतकर शानदार प्रदर्शन किया।

  • महिलाओं में पूजा गहलोत ने 51 किग्रा वर्ग में स्वर्ण पदक जीता, जबकि सोनू ने 44 किग्रा के आयोजन में रजत पदक जीता तथा मंजू कुमारी को महिलाओं की 59 किग्रा वर्ग में कांस्य मिला।
  • लड़कों ने ग्रेको-रोमन श्रेणियों में दो पदक जीते, जबकि एस के सतीश ने 120 किग्रा वर्ग में रजत पदक लिया जबकि मनीष ने 50 किग्रा श्रेणी में कांस्य पदक जीता।

9. आईओए ने 2032 ओलंपिक खेलों के लिए बोली के लिये तैयारी शुरू की

भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए), सरकार से हरी झंडी मिलने के बाद 2032 ओलंपिक खेलों की मेजबानी करने की बोली लगाने की तैयारी कर रहा है।

  • भारत 2024 के ओलंपिक के लिए बोली पर विचार कर रहा था। हालांकि, आईओसी के अध्यक्ष थॉमस बाक ने इसे केवल “अटकलों” के तौर पर खारिज कर दिया और कहा कि भारत के लिए खेल की मेजबानी करना जल्दीबाज़ी होगा।
  • पेरिस और लॉस एंजिल्स को 2024 और 2028 खेलो की मेजबानी मिलना लगभग तय है, जिसका मतलब है कि भारत 2032 ओलिंपिक खेलो के लिए बोली लगा सकता है

 

10. 87 साल की उम्र में पूर्व जर्मन चांसलर हेल्मुट कोल का निधन

पूर्व चांसलर हेल्मुट कोल, जो शीत युद्ध के अंत के समय जर्मनी के पुन:एकीकरण के अध्यक्ष थे, का 87 वर्ष की आयु में निधन हो गया।

  • रूस के मिखाइल गोर्बाचेव और अन्य विश्व के नेताओं के साथ, उन्होंने सफलतापूर्वक शीत युद्ध का अंत, पूर्व यूरोप में सोवियत वर्चस्व का अंत, और मास्को प्रभावित पूर्व जर्मनी के साथ पश्चिम जर्मनी का पुनर्मिलन किया था।

11. न्यायमूर्ति पी.एन. भगवती, पूर्व मुख्य न्यायाधीश और न्यायिक सक्रियता के अग्रणी, का निधन

जनहित याचिकाओं की अवधारणा को लागू करने के लिए देश में न्यायिक सक्रियता के अग्रणी माने जाने वाले भारत के पूर्व मुख्य न्यायाधीश पी एन भगवती का  नई दिल्ली में निधन हो गया।

  • सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश के रूप में, भगवती ने जनहित याचिका (पीआईएल) की अवधारणा और भारतीय न्यायिक प्रणाली को पूर्ण दायित्व पेश किया था।
  • जनहित याचिकाओं के चैंपियन के रूप में, उन्होंने कहा था कि किसी व्यक्ति को मौलिक अधिकारों के मुद्दे पर किसी न्यायालय के दरवाजे दस्तक करने के लिए किसी भी व्यक्ति के लोकस स्टैंडी (अधिकार या क्षमता को कारवाई में लाना या न्यायालय में पेश करना) की कोई आवश्यकता नहीं है।

 

START QUIZ…

 

Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *