Cheques

चैक, किसी भी बैंक को उस व्‍यक्ति का आदेश है जिसने अपने खाते में राशि जमा कर रखी है। इसमें वह चैक-धारक को एक निश्चित राशि जारी करने के लिये बैंक को आदेश देता है।

चेकों के प्रकार

बियरर चैक

बियरर चैक वह है जिसमें चैक धारक को राशि अदा की जाती है। इस प्रकार के चैक नकद अंतरण के लिये होते है।

आदिष्‍ट चैक

वह चैक जिसके द्वारा चेक जारीकर्ता को राशि का भुगतान दिया जाता है, आदिष्‍ट चैक कहलाता है। भुगतान से पहले बैंक जारीकर्ता की पहचान करता है।

क्रॉस्‍ड चैक

इस प्रकार के चैक में ऊपरी भाग पर दो समांतर रेखाऐं खींच दी जाती है। इस चैक के जरिये नकद भुगतान ना करके धारक/जारीकर्ता के खाते में राशि का भुगतान होता है।

अकाउंट पैयी चैक

इस प्रकार के चैक के ऊपर दो समांतर रेखाऐं खींचकर उनके बीच ‘’अकाउंट पैयी’’ लिख दिया जाता है। इसका भगुतान उस व्‍यक्ति को किया जाता है जिसके नाम पर यह जारी हुआ है।

कंपनी क्रॉस्‍ड चैक

जब चैक पर दो समान्‍तर रेखाऐं खींचकर उन्‍हें क्रॉस करके ‘’कंपनी’’ लि‍ख दिया जाता है, तो इसे कंपनी क्रॉस चैक कहते है। इसके जरिये राशि का भुगतान उस व्‍यक्ति के खाते में होता है जिसके नाम पर यह जारी हुआ हो।

पुराना चैक

यदि चैक को जारी होने के तीन महिने के अंदर बैंक में प्रस्‍तुत ना किया जाये तो इसे पुराना चैक कहते है।

उत्तर दिनांकित चैक

यदि चैक पर भुगतान की आगामी तिथी अंकित हो तो इसे उत्तर दिनांकित चैक कहते है।

यात्री चैक

यह बैक द्वारा पैसे के एक स्‍थान से अन्‍य स्‍थान पर प्रेषण के लिये जारी किया गया साधन है।

Pin It

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *